गडकरी की पाक को खुली चेतावनी –

0
272

नहीं रोका आतंकवाद, तो बंद कर देंगे पानी

  • Deepak Jha.

बोकारो : केन्द्रीय मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने बोकारो में चुनावी सभा के दौरान पाकिस्तान पर करारा हमला बोला। उन्होंने खुले मंच से पाक को चेतावनी दी कि अगर उसने आतंकवाद का साथ देना नहीं छोड़ा तो उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

गडकरी ने कैसे साधा पाक पर निशाना- देखें वीडियो रिपोर्ट

गडकरी ने कहा, ‘पाकिस्तान को हम सबक सिखाने जा रहे हैं। हमने कहा है कि अगर भाईचारा नहीं रखोगे तो पूरा पानी रोक लेंगे। अगर तुमने आतंकवादियों का समर्थन जारी रखना बंद नहीं किया तो तुम्हारा पूरा पानी हम बंद कर देंगे और तुम एक-एक बूंद को तरस जाओगे।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेसियों ने कभी सोचा नहीं कि हमारी तीन नदियों का पानी जो पाकिस्तान में जा रहा है, उसे रोका जाय। यह कहने की ताकत रखने वाली सरकार आज आपकी ताकत से दिल्ली में है। बोकारो के वैशाली मोड़ मैदान में भाजपा प्रत्याशी पीएन सिंह के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में उन्होंने कहा कि सुखी, सम्पन्न व समृद्ध भारत का निर्माण ही भाजपा की सोच है और इसी दिशा में केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में काम किया है। उन्होंने कहा- इस चुनाव आपको यह तय करना है कि देश को आतंकवादियों के सामने घुटने टेकने वाला मजबूर प्रधानमंत्री चाहिए या आतंकवाद और आतंकवादियों को जड़-मूल से उखाड़ फेंकने वाला मजबूत और ताकतवर प्रधानमंत्री चाहिए।

  • Varnan Live Report.
Previous articleLoksabha Election 2019- भीतरघात डुबोयेगी कांग्रेस की नैया?
Next articleSpecial Feature : मतदान- लोकतंत्र की सबसे बड़ी आजादी
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply