चीराचास के मैथिलों को एकसूत्र में पिरोयेगा मिथिला मंच

0
280

संवाददाता
बोकारो :
बोकारो का चीरा चास अब एक नये बोकारो शहर के रूप में विकसित होता जा रहा है। यहां की भव्य अट्टालिकायें, शानदार बाजार और लगातार बढ़ता जन-घनत्व इसका परिचायक है। यहां की आबादी में हजारों की संख्या में प्रवासी मिथिलांचलवासी भी शामिल हैं। उन सभी मैथिलों को एकसूत्र में पिरोकर एक मंच से जोड़ने की कवायद शुरू की है मिथिला मंच, चीरा चास ने। विधिवत पूजा-पाठ के साथ इस नये संगठन की शुरूआत की गयी। वास्तु विहार, फेज-2 के मंदिर में सत्यनारायण भगवान की पूजा-अर्चना के साथ यह शुभारम्भ हुआ। इस अवसर पर उपस्थित सभी लोगों ने एकजुटता का संकल्प लेते हुए मिथिला मंच के बैनर तले सांस्कृतिक व सामाजिक गतिविधियों के माध्यम से अपनी पारम्परिक विरासत संजोये रखने की प्रतिबद्धता भी व्यक्त की।
मंच के सचिव जयप्रकाश चैधरी ने उपस्थित सभी लोगों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि चीरा चास में रहने वाले समस्त मैथिल इस संस्था का सदस्य हो सकते हैं। उन्होंने अधिकाधिक संख्या में मिथिला मंच, चीरा चास से जुड़कर संगठन को सशक्त बनाने की अपील की। मौके पर जेपी चैधरी, रामबाबू चैधरी, भूषण पाठक, लक्ष्मण मिश्र, मुक्तेश्वर मिश्र, मदन झा, रामदेव झा, हरि कुमार मिश्र, हरिवंश झा, भवेश झा, अमरजीत चैधरी, ऋषिकेश चैधरी, विजय कुमार मिश्र सहित सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष उपस्थित थे। सत्यनारायण-पूजन वरिष्ठ पुरोहिताचार्य पं. योगेन्द्र मिश्र ने विधिवत संपन्न कराया।

  • Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.