संसाररूपी भवसागर से पार करता है श्रीमद्भागवत : स्वामिनी संयुक्तानंदा

0
461

बोकारो। बोकारो के सेक्टर-5 स्थित चिन्मय मिशन में बुधवार को श्रीमद्भागवत कथा का शुभारम्भ हुआ। चिन्मय मिशन, बोकारो की आचार्या स्वामिनी संयुक्तानंदा सरस्वती ने भागवत-ज्ञान की सरिता बहाते हुए कहा कि सत्, चित् एवं आनंद के माध्यम से कथा सुनें एवं इसका लाभ उठायें। जीवन मे इससे बड़ा महत्वपूर्ण कार्य कोई और नही है।
इससे पूर्व पूजा अर्चना से श्रीमद्भागवत कथा का शुभारंभ किया गया। चिन्मय विद्यालय के सचिव महेश त्रिपाठी ने स्वामिनी जी बारे में संक्षिप्त परिचय कराते हुए कहा कि स्वामिनीजी श्रीमद्भागवत गीता, रामायण एवं पुराणों की प्रसिद्ध प्रवचनकर्ता है।
स्वामिनीजी ने कथा में कहा कि भागवत का अर्थ है है भक्त। सर्वप्रथम शुक मुनि ने यह प्रसिद्ध कथा राजा परीक्षित को सुनाई थी। परमात्मा के पास पहुंचने के लिए भागवत एक नौके के समान है, जो संसाररूपी सागर से पार करता है। यह जीवन दर्शन का ज्ञान देने वाला ग्रंथ है। विदित हो कि यह श्रीमद्भागवत कथा 24 जुलाई से 23 अगस्त तक आयोजित की जा रही है। शुभारम्भ के अवसर पर विद्यालय अध्यक्ष विश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आरएन मल्लिक, पीके झा, नरमेन्द्र, वकीलकांत मिश्रा व संजीव मिश्रा सहित सैकड़ों भक्त उपस्थित थेे।

 

  • Varnan Live Report.

Leave a Reply