03 जनवरी को तय होगी Global Active City के कार्यक्रमों की रूपरेखा, होगा विचार-विमर्श

1
722
संवाददाता 
बोकारो। खेल जगत की सर्वोच्च अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति की ओर से संरक्षित महत्वाकांक्षी वैश्विक मिशन ग्लोबल एक्टिव सिटी नेटवर्क का हिस्सा बनाए जाने के बाद अब इसके तहत बोकारो में होने वाले कार्यक्रमों की तैयारियां की जा रही हैं। इसी सिलसिले में आगामी 03 जनवरी को अपराह्न 12.30 बजे से उपायुक्त मुकेश कुमार की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक जिला समाहरणालय के सभाकक्ष में रखी गई है। बैठक में ग्लोबल एक्टिव सिटी का देश में पहला पार्टनर बनाए जाने को लेकर बोकारो के सभी प्रमुख संगठनों और पदाधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया जाएगा। साथ ही, इसके तहत आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा भी तैयार की जाएगी। जिला खेल पदाधिकारी पीवीएन सिंह ने इस संबंध में एक पत्र जारी किया है। उन्होंने बोकारो स्टील प्लांट के अधिशासी निदेशक (कार्मिक व प्रशासन), निदेशक प्रभारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं), सिविल सर्जन, बोकारो, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, डीपीएस बोकारो के प्राचार्य सह राधाकृष्ण सहोदया विद्यालय काम्प्लेक्स, बोकारो के अध्यक्ष, विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्यों, एनसीसी और एनएसएस के कमांडेंट, बोकारो चैम्बर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष, बोकारो स्टील प्लांट के खेल पदाधिकारी, बोकारो जिला ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष व सचिव तथा बोकारो योगा केन्द्र के प्रमुख पत्र जारी करते हुए उक्त बैठक में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा है।
उल्लेखनीय है कि बोकारो को खेल जगत की सर्वोच्च संस्था अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) की ओर से संरक्षित एवं समर्थित महत्वपूर्ण न्युक्लियस मिशन ग्लोबल एक्टिव सिटी नेटवर्क से जोड़ा गया है। बोकारो इस्पात नगर यह स्थान पाने वाला भारत का पहला और एशिया का दूसरा शहर है। अंतरर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति परिवार की ओलंपिक शिक्षा संबंधित राष्ट्रीय इकाई भारतीय पीयरे डी कुरबटीन समिति (आईपीसीए) के कार्यकारिणी समिति सदस्य एवं बोकारो के अंतरराष्ट्रीय वालीबॉल प्रशिक्षक सह क्रीड़ा विशेषज्ञ जयदीप सरकार ने बोकारो को आईओसी के ग्लोबल एक्टिव नेटवर्क से जोड़े जाने के बाद यहां खेल के साथ-साथ सांस्कृतिक, एकेडमिक, साहित्य, कला-संस्कृति आदि के क्षेत्र में सकारात्मक वातावरण तैयार हो सकेगा। इससे न केवल खेल के क्षेत्र में एक अनुकूल माहौल बनेगा, बल्कि हर तरह से एक पॉजिटिव एनवायरनमेंट का निर्माण संभव हो सकेगा।
– Varnan Live Report.

1 COMMENT

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.