NJCS नेताओं के साथ इस्पातमंत्री ने की बैठक, Wage Revision सहित विभिन्न मुद्दों पर हुई गहन चर्चा

0
512
बैठक में उपस्थित केन्द्रीय इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, यूनियन के प्रतिनिधि व सेल अधिकारी।

संवाददाता
बोकारो :
इस्पात मंत्री माननीय धर्मेंद्र प्रधान के साथ मंगलवार को दिल्ली में एनजेसीएस यूनियन नेताओं की बैठक आयोजित की गयी। अपराह्न 12.30 बजे से 2.30 बजे तक चली इस बैठक में काफी सकारात्मक चर्चा हुई। यूनियन के नेताओं ने इस्पात मंत्री से वेज रिवीजन, पेंशन, हॉस्पीटल, टाउनशिप, ठेका श्रमिकों के वेतन, कर्मियों के पदनाम सहित सभी मुद्दों पर चर्चा की। सूत्रों के अनुसार चर्चा अच्छी रही। यूनियन नेताओं ने कहा कि पेंशन स्कीम एवं वेज रिवीजन में सरकार रोड़ा अटकाना बंद करे एवं पेंशन स्कीम को तुरंत लागू कराए। वहीं इस्पात मंत्री ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष में सेल प्रॉफिट में रहा है। उन्होंने सौहार्दपूर्ण वार्ता के बीच यूनियनों से इस साल भी मुनाफा लाने तथा वेज बोर्ड की दिशा में आगे बढ़ने की अपील की। इस तरह उन्होंने वेज बोर्ड की प्रक्रिया को शुरुआत कर मार्च-अप्रैल 2020 तक कंप्लीट करने का संकेत दिया।यूनियनों के प्रतिनिधियों ने सेल के सभी अस्पतालों का आधुनिकीकरण करने, टाउनशिप को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने की मांग रखी। साथ ही, इस बात पर भी जोर दिया कि ठेका श्रमिकों को उनका पूरा वेतन मिलना सुनिश्चित कराया जाए एवं संयंत्र में स्थाई प्रवृत्ति के काम को आउटसोर्सिंग पर न दिया जाए। शिकायत आयी कि ठेकेदार मजदूर के हिस्से के वेतन की निकासी कर लेते हैं और उन्हें न्यूनतम से भी कम वेतन मिल पाता है। भिलाई इंटक के महासचिव एसके बघेल ने कहा कि सेल में पदनाम के मुद्दे का जल्द समाधान किया जाए एवं सेल के आधुनिकीकरण में जो राशि लगाई गई है, उसे राष्ट्र की संपत्ति मानते हुए इसके लिए बैंकों से लिए हुए कर्ज को सरकार वहन करे। इससे सेल पर जो अनावश्यक बोझ आ रहा है, उससे हम उबर सकेें। इस्पात मंत्री के साथ बैठक बहुत ही सकारात्मक रही। बैठक में सेल चेयरमैन अनिल चौधरी, निदेशक (कार्मिक) अतुल श्रीवास्तव सहित इस्पात मंत्रालय एवं सेल के उच्च अधिकारी, यूनियन से दो- दो यूनियनों नेता उपस्थित हुए।

  • Varnan Live Report.

प्रिय पाठक, आपके सुझाव एवं विचार हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। आग्रह है कि नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपना मन्तव्य लिख हमें बेहतरी का अवसर प्रदान करें।

धन्यवाद!

Leave a Reply