डालकर ‘चारा’ लालू बने बेचारा

0
324

डर्टी पॉलिटिक्स… भाजपा नेता पर डोरे डालने के फोन प्रकरण मामले ने तूल पकड़ा

विशेष संवाददाता

रांची/पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एक बार फिर चारा मामले में सुर्खियों में हैं। इस बार यह चारा पशुओं वाला नहीं, बल्कि सियासी चारा रहा। जेल में बैठे-बैठे भाजपा नेता ललन पासवान पर डोरे डालकर सरकार गिराने की कोशिश के मामले में वह बुरी फंस चुके हैं और यह मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। पिछला हफ्ता उनके लिए कई परेशानियां लेकर आया और वह एक प्रकार से बेचारा बन गए। उनकी सुख-सुविधाएं छिन गईं। लालू के खिलाफ पटना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है, फोन प्रकरण की जांच शुरू हो गयी है, झारखंड हाइकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गयी है। यही नहीं, उनका बंगला भी छिन गया। फोन प्रकरण के बाद लालू को केली बंगले से रिम्स के पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। अगस्त में लालू को रिम्स के पेइंग वार्ड से रिम्स डायरेक्टर के बंगले केली बंगला में शिफ्ट किया गया था। इधर, लालू प्रसाद यादव के खिलाफ भाजपा नेता अनुरंजन अशोक ने जेल मैन्युअल के उल्लंघन मामले में झारखंड हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। उन्होंने अदालत से लालू के खिलाफ हॉर्स ट्रेडिंग का मामला दर्ज करने का आग्रह किया है। याचिका में कहा गया है कि लालू जेल से फोन का इस्तेमाल कर सरकार को गिराने का काम कर रहे हैं। दूसरी ओर बिहार के भाजपा विधायक ललन पासवान ने पटना के थाने में हॉर्स ट्रेडिंग का मामला दर्ज कराया है। ललन ने लालू पर भ्रष्टाचार और घूस देने का आरोप लगाया है। मोबाइल प्रकरण में शुरू जांच और बिहार के भाजपा विधायक ललन पासवान व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की आॅडियो वायरल होने के बाद रांची जिला प्रशासन हरकत में आ गया है। जेल आइजी से मिले निर्देश के बाद अब रांची के डीसी छवि रंजन ने जेल अधीक्षक से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है।

जीतनराम ने भी तोड़ी चुप्पी- लालू ने मुझे भी जेल से दिया था सीएम बनने का ऑफर

भाजपा नेता ललन पासवान को कथित तौर पर प्रलोभन दिए जाने का मामला उभरने के बाद हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने दावा किया है कि लालू यादव ने जेल से ही उन्हें मुख्यमंत्री बनाने का आॅफर दिया था। साथ ही लालू ने हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के सभी विधायकों को राजद की सरकार बनने पर मंत्री बनाने का आॅफर भी दिया था। मांझी ने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा कि राजद सुप्रीमो लालू यादव ने जेल से ही उन्हें कई बार ‘चारा’ डालने की कोशिश की।


ट्विटर ने हटाया सुशील मोदी का ट्वीट

ट्विटर ने अपनी वेबसाइट से बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के एक ट्वीट को हटा दिया है। माना जा रहा है कि ये ट्विटर के हिसाब से कोड ब्रेक यानी नियमों के खिलाफ है। इस ट्वीट  में सुशील मोदी ने वह नंबर सार्वजनिक कर दिया था, जिससे कथित तौर पर पीरपैंती के बीजेपी विधायक ललन पासवान को फोन आया था।

फिलहाल रहना होगा जेल में ही

राजद प्रमुख लालू प्रसाद की जमानत याचिका शुक्रवार को टल गयी। इस मामले में अब 11 दिसंबर को सुनवाई होगी। फिलहाल लालू यादव जेल में ही रहेंगे। चारा घोटाले के सभी चार मुकदमों में तीन में आधी सजा काटने के चलते लालू यादव ने जमानत की अपील की थी। शुक्रवार को चारा घोटाले से संबंधित दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये के गबन के मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। न्यायमूर्ति अपरेश कुमार सिंह की एकल पीठ के समक्ष जमानत याचिका पर सुनवाई प्रारंभ होते ही जांच ब्यूरो ने कहा कि इस मामले में लालू के आधी से अधिक सजा पूरी कर लेने के दावे एवं अन्य दावों के बारे में वह लिखित रूप से अपना पक्ष रखेगी, जिसके लिए उसे समय दिया जाये। 

– Varnan Live Report

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.