जारी रहेगा BGH में ISO 9001:2015 का प्रमाणन, ऑडिटर्स ने की अनुशंसा

0
228

बोकारो जनरल अस्पताल में आईएसओ 9001:2015 (क्यूएमएस) का प्रथम सर्विलांस ऑडिट संपन्न

बोकारो। बोकारो जनरल अस्पताल (बीजीएच) में दो दिवसीय आईएसओ 9001:2015 क्यूएमएस (गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली) का प्रथम सर्विलांस ऑडिट मेसर्स बीएसआई के ऑडिटर श्री एस बनर्जी (टीम लीडर), एस कर (टीम सदस्य) तथा डॉ इंद्रनील बनर्जी(तकनीकी विशेषज्ञ) द्वारा रिमोट मोड में किया गया। ऑनलाइन ओपेनिंग बैठक शुक्रवार को सीएमओ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं) डॉ पंकज शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में कोलकाता से ऑडिटर तथा बीजीएच में विभिन्न विभागों के वरीय चिकित्सक एवं बिजनेस एक्सेलेंस के अधिकारी ऑन लाइन जुड़े हुए थे। आरम्भ में महाप्रबंधक(बिजनेस एक्सलेंस) अनुपमा तिवारी ने ऑनलाइन जुड़े हुए ऑडिटरों एवं सभी चिकित्सकों का स्वागत किया। एस. बनर्जी ने 02 दिनों तक चलने वाले ऑडिट प्लान के बारे में विस्तार से बताया.
ऑनलाइन ऑडिट विभिन्न सेक्शनों मैनेजमेंट सिस्टम फंक्शन, ब्लड बैंक, पैथोलॉजी, नर्सिंग वार्ड, हाउसकीपिंग, लॉन्ड्री, कैंटीन, आईसीयू, एनआईसीयू, इमेजिंग, कस्टमर शिकायत, रिसेप्शन, बर्न यूनिट, ओएचएस इत्यादि में सफलता पूर्वक किया गया।
ऑनलाइन क्लोजिंग बैठक आयोजित की गई जिसमें सीएमओ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं) डॉ पंकज शर्मा, ऑडिट किए गए विभागों के चिकित्सक तथा बीई विभाग के अधिकारी मौजूद थे। आरम्भ में एस बनर्जी ने अपने ऑडिट पॉइंट्स को साझा किया। डॉ पंकज शर्मा ने ऑडिटरों को धन्यवाद देते हुए उनके द्वारा सुझाए गए बिन्दुओं पर अमल करने का आश्वासन दिया। ऑडिट के उपरांत श्री बनर्जी ने बोकारो जनरल अस्पताल को आइएसओ 9001: 2015 क्यूएमएस (क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम) के प्रमाणीकरण को जारी रखने की अनुशंसा की। अनुपमा तिवारी ने ऑडिट को सफल बनाने में सहयोग करने के लिए सभी का आभार व्यक्त किया. ऑडिट के सफलतापूर्वक आयोजन में एसीएमओ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं) डॉ इंद्रनील चौधरी, डीसीएमओ(चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं) डॉ तृप्ति चंद्रा तथा महाप्रबंधक (बीई) बी बनर्जी का अहम् योगदान रहा।

Previous articleईएसएल के इंटर विलेज फुटबॉल टूर्नामेंट में गांवों की प्रतिभाओं ने दिखाए दमखम, हुटुपाथर टीम बनी विजेता
Next articleअनाज और खाद्य भंडारण में खास स्टील की जरूरत पूरी करेगा BSL, दूसरे देशों से आने वाले इस्पात का यहीं किया उत्पादन
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply