ईएसएल के इंटर विलेज फुटबॉल टूर्नामेंट में गांवों की प्रतिभाओं ने दिखाए दमखम, हुटुपाथर टीम बनी विजेता

0
283

बोकारो। भारत के युवाओं को सशक्त बनाने तथा स्थानीय प्रतिभा को प्रोत्साहित करने के प्रयास में वेदांता ग्रुप की कंपनी और मुख्य राष्ट्रीय स्टील प्लेयर ईएसएल स्टील लिमिटेड ने सीएसआर परिचालन क्षेत्रो मे 23 से 25 अगस्त को एक इंटरविलेज फुटबॉल टूर्नामेन्ट का आयोजन किया, बोकारो के विभिन्न गांवों से 16 टीमों ने इसमें हिस्सा लिया। गांवों की खेल प्रतिभाओं ने इसमें जमकर अपने दमखम दिखाए।

तीन दिवसीय खेल के समापन पर हुतुपाथर गांव की टीम को विजेता घोषित किया गया, जबकि सियालजोरी गांव की टीम रनर-अप रही। खिलाड़ियों ने खेल भावना का प्रदर्शन किया और समुदाय के लोगों में खेल की भावना को प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम में मरकस हेम्बराम, ज़िला खेल अधिकारी, बोकारो, श्री रवि रंजन, डायरेक्टर स्टील आशीष रंजन, प्रमुख सीएसआर और उनकी पूरी टीम तथा ईएसएल के सीएसआर संचालन क्षेत्रों के 16 गांवां से पीआरई सदस्य भी मौजूद थे।

इस अवसर पर एन. एल. व्हाट्टे, सीईओ ईएसएल स्टील लिमिटेड ने कहा, ‘‘मैं अपनी सीएसआर टीम के प्रति आभारी हूं, जिन्होंने झारखण्ड की स्थानीय प्रतिभा को प्रोत्साहित करने के लिए यह सफल खेल आयोजन किया है। मैं सभी 16 टीमों के हर सदस्य की सराहना करता हूं, हुतुपाथर टीम को विजेता और सियालजोरी गांव को रनर-अप घोषित किए जाने के लिए बधाई देता हूं। मैं सभी टीमांं को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं और कामना करता हूं ये खिलाड़ी नेतृत्व, सम्मान, दृढ़ विश्वास और धैर्य के साथ आगे बढ़ें और आने वाले समय में इस तरह के टूर्नामेन्ट्स में अच्छा प्रदर्शन करते रहें।’’

एकजुटता को बढ़ावा देने के लिए कुंदन कर्ण, महाप्रबंधक, मानव संसाधन, ईएसएल ने सेमी-फाईनल के लिए क्वालिफाय हुई चार टीमों को यूनिफॉर्म किट भी वितरित किए।

श्री मरकस हेम्बराम, ज़िला खेल अधिकारी, बोकारो ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि मुझे वेदांता ईएसएल और इसकी सीएसआर टीम द्वारा आयोजित इस रोचक खेल कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिला है। मैं इस कार्यक्रम से जुड़े हर व्यक्ति को बधाई देता हूं और उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में इस तरह के कार्यक्रम बोकारो के युवाओं को प्रेरित करते रहेंगे। यह देखकर अच्छा लगता है कि युवाओं ने उत्साह के साथ इसमे हिस्सा लिया, इस तरह के खेल युवाओं में खेल की भावना विकसित करते हैं। मैं वेदांता ईएसएल के प्रति आभारी हूं जिन्होंने युवाओं के उज्जलव भविष्य की ओर यह मार्ग प्रशस्त किया है।’’

इसी साल ईएसएल ने बोकारों में तीन टीमों -पुरूष, महिला और वरिष्ठ प्रबन्धन- के साथ टी20 क्रिकेट टूर्नामेन्ट का आयोजन भी किया था। हमेशा की तरह इस सालाना कार्यक्रम ने ज़िले से हर व्यक्ति को आकर्षित यि और दर्शकों भी खेलों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया।

Previous articleBokaro gets a State of the art Indoor Badminton Hall; DI inaugurates
Next articleजारी रहेगा BGH में ISO 9001:2015 का प्रमाणन, ऑडिटर्स ने की अनुशंसा
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply