19 को बोकारो में 79 सेंटर पर होगी JPSC की परीक्षा, कोई भी गैजेट ले जाने की सख्त मनाही, जानें और शर्तें

0
343

बोकारो : आगामी 19 सितंबर को निर्धारित झारखंड संयुक्त असैनिक सिविल सेवा (जेपीएससी) की प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 2021 के सफल आयोजन को लेकर गुरुवार को समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने जिले के सभी केंद्राधीक्षकों व पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में उप विकास आयुक्त जयकिशोर प्रसाद, अपर समाहर्ता सादात अनवर समेत वरीय अधिकारी मौजूद थे। बैठक में उपायुक्त श्री चौधरी ने बताया कि जेपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा के लिए जिले में कुल 79 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जहां 35999 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। पहली पाली पूर्वाह्न 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा दूसरी पाली अपराह्न दो बजे से अपराह्न चार बजे तक होगी

कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण ढंग से होगा परीक्षा संचालन
उपायुक्त ने जिले के सभी केंद्राधीक्षकों को कदाचार मुक्त परीक्षा संचालित कराने को कहा। उन्होंने बैठक के दौरान परीक्षा का सफल संचालन के लिए बेंच-डेस्क की व्यवस्था सुनिश्चित करने, दिव्यांग अभ्यर्थियों जिसे चलने फिरने में दिक्कत है उसे भू-तल (ग्राउंड फ्लोर) में व्यवस्था करने, एंट्री गेट पर थर्मल स्कैनिंग करने, सिटिंग अरेंजमेंट का चार्ट पांच स्थानों पर चिपकाने तथा केंद्र पर पंखे, पेयजल, शौचालय, साफ सफाई की व्यवस्था, महिला-पुरुष शौचालय की अलग अलग व्यवस्था करने का निर्देश दिया। साथ ही कहा कि परीक्षा केंद्र के अंदर किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक गैजेट्स जैसे मोबाइल, टैबलेट, ब्लूटूथ, कैलकुलेटर, इलेक्ट्रानिक घड़ी आदि डिजिटल उपकरण ले जाना पूर्णत: निषिद्ध रहेगा। निरीक्षण के दौरान किसी अभ्यर्थी के पास कोई डिजिटल उपकरण पाया गया तो कठोर कार्रवाई की जाएगी।

कोविड-19 गाइडलाइन के तहत ली जाएगी

उपायुक्त ने सभी केंद्राधीक्षकों को जेपीएससी द्वारा उपलब्ध कराई गई मार्गनिदेशिका को अच्छे से अध्ययन करने को कहा है। कोविड-19 गाइडलाइन के तहत परीक्षा संचालित करने, परीक्षा के सफल संचालन के लिए केंद्रों पर दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति करने, उड़नदस्ता दल गठित करने और कंट्रोल रूम बनाने के निर्देश दिया। उपायुक्त ने संबंधित सुपरवाइजर, प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा अंचल अधिकारी को निदेश दिया है कि सभी केंद्रों का निरीक्षण कर मूलभूत सुविधाओं पर कार्य करें। किसी भी परीक्षार्थी को कोई तकलीफ नही पहुंचे। सभी केंद्राधीक्षक को स्पष्ट निदेश दिया गया है कि चार दिनों के अंदर सभी मूलभूत सुविधाएं पूर्ण कर रिपोर्ट सौपें। अनुमंडल पदाधिकारी चास एवं अनुमंडल पदाधिकारी बेरमो (तेनुघाट) को अपने अपने क्षेत्र के लिए सभी आवश्यक तैयारियों को मोनिटरिंग करने को कहा गया है। छोटी छोटी आवश्यकताओं ध्यान में रखकर कार्य करना है।

बैठक में ये रहे मौजूद
उक्त बैठक में अपर नगर आयुक्त अनिल कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी चास दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, अनुमंडल पदाधिकारी बेरमो, तेनुघाट  अनंत कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी नीलम आइलीन टोप्पो, जिला परिवहन पदाधिकारी संजीव कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी राहुल कुमार भारती, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचल अंचल अधिकारी सहित 79 विद्यालयों के प्रभारियों एवं अन्य उपस्थित रहे।

– Varnan Live Report.

Previous articleचास नगर परिषद की पहली अध्यक्ष गंगा भालोटिया ने मेयर चुनाव के लिए दावेदारी ठोकी, कहा- फिर संवारेंगे शहर की सूरत
Next articleजरूरत पड़ने पर मानवसेवा में तत्पर रहेंगे ग्रामीण चिकित्सक, CS को दिलाया भरोसा
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply