DPS में 33 स्कूलों के 65 शिक्षकों को मिला ‘गुरु वशिष्ठ शिक्षक सम्मान’

0
353

डीसी ने किया सम्मानित, कहा- विद्यार्थियों की रुचि व प्रतिभा के अनुरुप आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें शिक्षक

बोकारो। दिल्ली पब्लिक स्कूल, बोकारो में शुक्रवार को डॉ एस राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स बोकारो के तत्वावधान में पांचवां गुरु वशिष्ठ श्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार समारोह 2021 का आयोजन किया गया, जिसमें बोकारो जिले के 33 स्कूलों के 65 शिक्षकों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बोकारो के उपायुक्त कुलदीप चौधरी थे। अन्य गणमान्य व्यक्तियों में डॉ राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स के अध्यक्ष ए एस गंगवार, उपाध्यक्ष अनिल कुमार गुप्ता, सचिव बिश्वजीत पात्रा, कोषाध्यक्ष फादर रेजी सी. वर्गीज, सांस्कृतिक सचिव सिस्टर कमला पॉल उपस्थित थीं।
समारोह की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन के बाद स्वागत गीत और स्कूल गीत से हुई। इस समारोह में दो मंत्रमुग्ध कर देने वाले नृत्य और एक आर्केस्ट्रा का प्रदर्शन हुआ। बच्चों ने गुरु महिमा पर विशेष प्रस्तुति दी। मुख्य अतिथि द्वारा शिक्षक पुरस्कार विजेताओं को प्रमाण पत्र, स्मृति चिन्ह और शॉल देकर सम्मानित किया गया।
समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री चौधरी ने कहा कि वर्तमान शिक्षा परिदृश्य में एक गुरु की भूमिका बहुआयामी है। विद्यार्थियों को पढ़ाने का तरीका रोचक व आनंदमय हो। शिक्षक विद्यार्थियों की रुचि व प्रतिभा के अनुरुप उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने विद्यार्थियों के समग्र विकास के लिए सांस्कृतिक व खेल-कूद की गतिविधियों को जरूरी बताया। उपायुक्त ने कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सराहना की और कहा कि बोकारो सहित पूरे झारखंड में शिक्षा का बेहतर माहौल है। डॉ राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स के कार्यों की भी उपायुक्त ने प्रशंसा की।

एक प्राचार्य को सम्मानित करते डीसी कुलदीप चौधरी, साथ मौजूद डीपीएस के प्राचार्य एएस गंगवार व अन्य।

समाज को सकारात्मक आकार देते हैं शिक्षक : गंगवार

अपने संबोधन में डॉ राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स के अध्यक्ष सह डीपीएस बोकारो के प्राचार्य ए एस गंगवार ने कहा कि इस तरह के शिक्षक सम्मान समारोह के आयोजन से शिक्षकों के उत्कृष्ट योगदान को मान्यता मिलती है। शिक्षक एक सकारात्मक समाज को आकार देने और राष्ट्र को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए शिक्षकों को अपने कौशल में सतत अपडेट करना चाहिए। डॉ. राधाकृष्णन सहोदया स्कूल कॉम्प्लेक्स के उपाध्यक्ष अनिल कुमार गुप्ता ने सहोदया की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। अंत में धन्यवाद ज्ञापन सचिव बिश्वजीत पात्रा ने किया। कार्यक्रम का संचालन 12वीं की छात्रा मिताली सिंह, शिखर शर्मा, उत्कर्ष वैभव, रितिका व समृद्धि दुबे ने किया।

– Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.