myClassroom ने लॉन्च किया “mySEAT 202” – आईआईटी, एम्स और भारत के शीर्ष 100 कॉलेजों में सीट की गारंटी का दिया मौका

0
274

नोएडा, 14 दिसंबर, 2021:  myClassroom ने आज लॉन्च किया है “mySEAT 2021” – जो है वर्तमान में 8वीं, 9वीं और दसवीं में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए एक स्कॉलरशिप एलिजीबिलिटी-कम-एडमिशन टेस्ट। यह टेस्ट इन युवाओं को आईआईटी, एम्स और भारत के शीर्ष 100 इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेजों में गारंटी के साथ सीट पाने की तैयारी कराने का एक मौका देता है। सीधे आपके शहर में आधुनिकतम तकनीक व डिजिटल क्लासरूम्स के ज़रिए myClassroom प्रत्येक स्टूडेंट को भारत की शीर्ष फ़ैकल्टी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अकादमिक उत्साह वाले वातावरण की सुविधा उपलब्ध कराता है।
इस पहल के बारे में बोलते हुए myClassroom के सह-संस्थापक व निदेशक, श्री प्रशांत शर्मा ने कहा कि, “mySEAT 2021 उन स्टूडेंट्स के लिए एक मौका है जो खुद को भविष्य के अगले महान आविष्कारक, इंजीनियर, वैज्ञानिक, डॉक्टर या सर्जन के रूप में देखते हैं। इस टेस्ट में भाग लेकर स्टूडेंट्स को मौका मिलेगा ओलंपियाड, KVPY, JEE और NEET जैसी आनेवाली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अपनी तैयारी को परखने का, हमारे एक्सपर्ट टीचर्स से पर्सनलाइज़्ड करियर काउंसलिंग पाने का और ढेरों स्कॉलरशिप्स व रोचक पुरस्कार जीतने का भी।“

ये स्कॉलरशिप परीक्षाएँ हर क्लास के लिए दो चरणों में होंगी। पहले चरण में अभ्यर्थियों को 15 से 25 दिसंबर 2021 तक ऑनलाइन या फिर 16 शहरों में स्थित हमारे स्मार्ट क्लासरूम्स में जाकर 19 से 25 दिसंबर 2021 तक ऑफलाइन परीक्षा देनी होगी। दूसरे चरण में हर क्लास के शीर्ष 100 रैंक पानेवालों के लिए एक पर्सनल इंटर्व्यू कराया जाएगा। अंतिम परिणामों की घोषणा 5 जनवरी 2022 को की जाएगी। स्टूडेंट्स इसके लिए https://myseat.myclassroom.digital/ पर जाके अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।  

आईआईटी-जेईई के टॉर्स को 25 वर्ष तक मार्गदर्शन व कोचिंग देने का अनुभव रखनेवाले और myClassroom में जेईई के अकादमिक निदेशक, श्री प्रमोद कुमार राणा कहते हैं कि, “myClassroom के सभी प्रोग्राम एक निश्चित परिणाम को लक्षित करते हुए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की ओर केंद्रित हैं। हमारे ये अनुशासनबद्ध, केन्द्रित व मार्गदर्शित प्रोग्राम, प्रतियोगी परीक्षाओं में स्टूडेंट्स को सफलता दिलाने के उद्देश्य से तैयार किए गए हैं।“  

22 वर्षों का अनुभव रखनेवाले व myClassroom में NEET के अकादमिक निदेशक, डॉ. गगन वोहरा का कहना है कि, “myClassroom द्वारा शिक्षकों, सहपाठियों व अभिभावकों का एक ऐसा माहौल तैयार किया जाता है जिसमें आकांक्षी स्टूडेंट्स के लिए एक स्वस्थ व प्रतिस्पर्धी परिवेश में श्रेष्ठ शैक्षिक व मनोवैज्ञानिक सहयोग देने पर बल दिया जाता है।“ डॉ. वोहरा ने अपने करियर में पाँच बार AIIMS और NEET में पहली रैंक लानेवाले अभ्यर्थियों का मार्गदर्शन किया है।

myClassroom के बारे में :
हमारी टीम में आईआईटी व आईआईएम जैसे शीर्ष संस्थानों से आनेवाले श्रेष्ठ शिक्षक शामिल हैं और हम पूरी प्रतिबद्धता के साथ यह सुनिश्चित करते हैं कि प्रत्येक स्टूडेंट अपनी श्रेष्ठतम काबिलियत का प्रदर्शन कर सके। हम प्रत्येक स्टूडेंट को उसी के शहर में हमारे आधुनिकतम स्मार्ट क्लासरूम्स के ज़रिए उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और भारत के शीर्ष शिक्षकों की सुविधा उपलब्ध कराते हैं।  
myClassroom, ज़िन-एड्यू क्लासेज़ प्राइवेट लिमिटेड का एक ब्रांड है। 

– Varnan Live Report.

Previous articleराज्य में बेहतर औद्योगिक माहौल बनाने को सरकार प्रतिबद्ध : हेमंत
Next articleव्यक्तित्व विकास और मानसिक संतुलन के लिए धैर्य जरूरी : साध्वी प्रमुखा कनकप्रभा
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply