बोकारो के पेटरवार में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ भड़के ग्रामीण, 5 घंटे सड़क जाम

0
232

पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प, पत्थरबाजी, आंसू गैस के गोले छोड़े गए

बोकारो : जिले के पेटरवार में एक नाबालिग बच्ची के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म के मामले ने हिंसक रूप धारण कर लिया है। घटना के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है और ग्रामीणों ने बोकारो-रामगढ़ हाइवे को जाम कर दिया। पुलिस द्वारा लोगों को शान्त करने की कोशिशें नाकाम रही और लोगों ने पथराव किया। दोनों ओर से पत्थरबाजी हुई और पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग किया। घटना में शामिल दो युवकों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस पर पीड़िता पर दबाव बनाने का आरोप लगाया जा रहा है। लगभग पांच घंटे सड़क जाम को दोपहर 2 बजे हटाया जा सका। इलाका पूरा छावनी में तब्दील रहा। घटनास्थल पर पहुंचे बेरमो एसडीओ अनंत कुमार ने कहा कि रोड़ेबाजी में कुछ पुलिस जवान चोटिल हो गए हैं, जिनका इलाज कराया जा रहा है। आमलोगों की ओर से किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सड़क जाम करनेवाले लोगों को बल प्रयोग कर हटा दिया गया है। आंसू गैस के कुछ गोले छोड़े गए हैं। अब यातायात सुगम हो चुका है। लोगों की मांग घटना में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने और थाना प्रभारी को हटाने की है। इस मांग से उन्होंने एसपी सहित अन्य वरीय अधिकारियों को अवगत करा दिया है। मामले में दो और आरोपी शामिल बताए जा रहे हैं। इसकी जांच की जा रही है।

इधर, गोमिया विधायक ने की फास्टट्रैक से मामले की सुनवाई और दोषियों को फांसी की मांग

गिरिडीह के सांसद चन्द्र प्रकाश चौधरी और स्थानीय विधायक डॉ लम्बोदर महतो ने दुष्कर्मियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई कर फास्टट्रैक कोर्ट के माध्यम से उन्हें फांसी की सजा दिलवाने की मांग की है। विधानसभा के बाहर उन्होंने नारालिखित तख्ती लेकर प्रदर्शन भी किया। खबर लिखे जाने तक पेटरवार में तनाव की स्थिति देखी जा रही है। पुलिस वहां कैम्प कर रही है। उधर, गोमिया के विधायक डॉ लम्बोदर महतो गुरुवार को झारखंड विधानसभा के बाहर पेटरवार की नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार के दोषियों को फांसी की मांग को लेकर धरना पर बैठ गए। उन्होंने स्थानीय प्रशासन घटना की लीपापोती की कोशिश करने का आरोप लगाया।

गुरुवार रात बाइक से नाबालिग को ले जाते पकड़े गए थे दो युवक

उल्लेखनीय है कि ग्रामीणों ने गुरुवार की रात लगभग 9:30 बजे एक मोटरसाइकिल पर नाबालिग युवती को बैठा कर ले जाते दो युवकों को संदिग्ध हालत में पकड़ा था। ग्रामीणों ने उसे दबोचकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से पुलिस के हवाले कर दिया था। गुरुवार रात से ही इलाके में तनावपूर्ण स्थिति बनी थी, जो शुक्रवार सुबह से काफी भड़क गया, परंतु समय रहते प्रशासन ने स्थिति पर काबू पा लिया और अब हालात सामान्य हो चले हैं। हालांकि, इलाके में अभी भी तनावपूर्ण स्थिति देखी जा रही है और पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील है। कहीं भी किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो, इसे लेकर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने वहां क्या कर रखा है।

– Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.