बोकारो के पेटरवार में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ भड़के ग्रामीण, 5 घंटे सड़क जाम

0
318

पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प, पत्थरबाजी, आंसू गैस के गोले छोड़े गए

बोकारो : जिले के पेटरवार में एक नाबालिग बच्ची के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म के मामले ने हिंसक रूप धारण कर लिया है। घटना के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है और ग्रामीणों ने बोकारो-रामगढ़ हाइवे को जाम कर दिया। पुलिस द्वारा लोगों को शान्त करने की कोशिशें नाकाम रही और लोगों ने पथराव किया। दोनों ओर से पत्थरबाजी हुई और पुलिस ने आंसू गैस का प्रयोग किया। घटना में शामिल दो युवकों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस पर पीड़िता पर दबाव बनाने का आरोप लगाया जा रहा है। लगभग पांच घंटे सड़क जाम को दोपहर 2 बजे हटाया जा सका। इलाका पूरा छावनी में तब्दील रहा। घटनास्थल पर पहुंचे बेरमो एसडीओ अनंत कुमार ने कहा कि रोड़ेबाजी में कुछ पुलिस जवान चोटिल हो गए हैं, जिनका इलाज कराया जा रहा है। आमलोगों की ओर से किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सड़क जाम करनेवाले लोगों को बल प्रयोग कर हटा दिया गया है। आंसू गैस के कुछ गोले छोड़े गए हैं। अब यातायात सुगम हो चुका है। लोगों की मांग घटना में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने और थाना प्रभारी को हटाने की है। इस मांग से उन्होंने एसपी सहित अन्य वरीय अधिकारियों को अवगत करा दिया है। मामले में दो और आरोपी शामिल बताए जा रहे हैं। इसकी जांच की जा रही है।

इधर, गोमिया विधायक ने की फास्टट्रैक से मामले की सुनवाई और दोषियों को फांसी की मांग

गिरिडीह के सांसद चन्द्र प्रकाश चौधरी और स्थानीय विधायक डॉ लम्बोदर महतो ने दुष्कर्मियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई कर फास्टट्रैक कोर्ट के माध्यम से उन्हें फांसी की सजा दिलवाने की मांग की है। विधानसभा के बाहर उन्होंने नारालिखित तख्ती लेकर प्रदर्शन भी किया। खबर लिखे जाने तक पेटरवार में तनाव की स्थिति देखी जा रही है। पुलिस वहां कैम्प कर रही है। उधर, गोमिया के विधायक डॉ लम्बोदर महतो गुरुवार को झारखंड विधानसभा के बाहर पेटरवार की नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार के दोषियों को फांसी की मांग को लेकर धरना पर बैठ गए। उन्होंने स्थानीय प्रशासन घटना की लीपापोती की कोशिश करने का आरोप लगाया।

गुरुवार रात बाइक से नाबालिग को ले जाते पकड़े गए थे दो युवक

उल्लेखनीय है कि ग्रामीणों ने गुरुवार की रात लगभग 9:30 बजे एक मोटरसाइकिल पर नाबालिग युवती को बैठा कर ले जाते दो युवकों को संदिग्ध हालत में पकड़ा था। ग्रामीणों ने उसे दबोचकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से पुलिस के हवाले कर दिया था। गुरुवार रात से ही इलाके में तनावपूर्ण स्थिति बनी थी, जो शुक्रवार सुबह से काफी भड़क गया, परंतु समय रहते प्रशासन ने स्थिति पर काबू पा लिया और अब हालात सामान्य हो चले हैं। हालांकि, इलाके में अभी भी तनावपूर्ण स्थिति देखी जा रही है और पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील है। कहीं भी किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो, इसे लेकर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने वहां क्या कर रखा है।

– Varnan Live Report.

Previous articleविश्व कल्याण के लिए कलशयात्रा के साथ श्यामा माई मंदिर में भागवत कथा शुरू
Next articleनिखिल पारदेश्वर महादेव मंदिर की जल्द बदलेगी सूरत
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply