Covid-19 वैक्सीनेशन की तैयारियों के बीच बोकारो में रणनीति तय, जानिए किसे मिलेगी पहले सुई

0
383

बोकारो। विश्व स्तर पर कोरोना से बचाव को ले वैक्सीनेशन की तैयारियों के बीच बोकारो जिला प्रशासन ने अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। प्रारंभिक रणनीतिक के तहत गुरुवार को टास्क फोर्स की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। डीसी राजेश सिंह ने पहले से ही तैयारी और टीकाकरण की व्यवस्था दुरुस्त रखने को कहा। उन्होंने कहा कि कोविड- 19 ने एक ओर जहां अर्थव्यवस्था को रोककर रख दिया और जनजीवन प्रभावित हुआ वहीं डॉक्टरों एवं वैज्ञानिकों की टीम ने इसकी वैक्सीन तैयार कर खुशी का माहौल विश्वभर में बना दिया है। अब समय दूर नहीं जब हम कोरोना को मात दे सकेंगे। इस दिशा में कदम दर कदम हम आगे बढ़ रहे हैं। ब्रिटेन में तीसरी ट्रायल के बाद कोविड- 19 कि वैक्सीन बाजार में उपलब्ध होने को है। वहीं, भारत में हैदराबाद तथा पुणे में बनाई जा रही वैक्सीन का तीसरी ट्रायल भी चल रहा है। जनवरी 2021 के अंतिम सप्ताह में वैक्सीन आने की संभावना है। उसके बाद वैक्सीनशन का काम शुरू हो जाएगा। समाहरणालय सभागार में आयोजित बैठक के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक प्रस्तुतीकरण के जरिए इस संबंध में जानकारी दी। डीसी ने इस मौके पर कहा कि वैक्सीन लगाने के समय सभी पहलुओं का जानकारी रखना आवश्यक है। क्षेत्र में समस्याएं आएंगी, जिनका सूझबूझ से निपटारा कर लिया जाएगा। वैक्सीन के ट्रांसपोर्टेशन में भी समस्याएं आ सकती हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम को पूरी सतर्कता के साथ काम करना होगा। सभी टीम भावना से काम कर ही इस महामारी को हरा सकेंगे। 

बैठक में मौजूद डीसी व अन्य।

पहले फेज में मेडिकल अफसरों और कर्मियों को लगेगी वैक्सीन
बैठक में डीसी ने कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन लगाने से पहले पूरी जानकारी रखनी होगी। प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रावधान के तहत ही वैक्सीनेशन होना है। पहले फेज में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों, कर्मियों को वैक्सीन लगाई जानी है। उन्होंने जिले के दोनों एसडीओ को अपने- अपने प्रखंडों से बेहतर तालमेल बनाकर सतर्कता के साथ इस ओर काम करने का निर्देश दिया। उपस्थित सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम को वैक्सीनशन के लिए रोड मैप तैयार करने का निर्देश भी डीसी ने दिया।

पहचान पत्र और ओटीपी के आधार पर ही लगे सकेगी सुई
डीसी ने बैठक में कहा कि वैक्सीन के लिए आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड लिया जाएगा तथा संबंधित व्यक्ति के मोबाइल पर ओटीपी भी आएगा। रजिस्ट्रेशन के बाद जिसके मोबाइल पर ओटीपी आएगा उसे ही वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा। इससे किसी भी प्रकार के भेदभाव की संभावना नही रहेगी। उन्होंने कहा कि जिला के सभी प्रखंड के होल्ड चैन हेन्डलरों व वैक्सीनेटरों को सही ढंग से प्रशिक्षण सुनिश्चित कराई जाए। उपायुक्त ने कहा कि प्रथम चरण में कोरोना की वैक्सीन के लिए सरकारी व गैर सरकारी डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों व अधिकारियों को को पहले से ही तैयार रखने को निर्देश दिया गया है, ताकि यह वैक्सीन पहले चरण में उनलोगों को लगने के बाद उसकी सफलता से आमजनता के बीच की गलत धारणाएं दूर हो सके। 

17 को बूथों पर और 18-19 जनवरी को घर-घर पिलाई जाएगी पोलियो की खुराक
डीसी ने कहा कि 0 से 05 वर्ष तक के बच्चों को पल्स पोलियो अभियान के तहत पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। यह ड्रॉप 17 जनवरी को सभी बूथों पर तथा 18 और 19 जनवरी को छूटे हुए बच्चों को घर घर जाकर पिलाया जाएगा। मौके पर बैठक में सिविल सर्जन डॉ.अशोक कुमार पाठक, इस बैठक में नोडल पदाधिकारी डॉ. एनपी सिंह के अलावा चास सीएचसी के प्रभारी डॉ. अनिल कुमार, फुसरो के प्रभारी डॉ. एके मांझी, जरीडीह रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ. जीतेंद्र सिंह, चंदनकियारी के प्रभारी डॉ. श्रीनाथ, नावाडीह प्रभारी डॉ. कामेश्वर प्रसाद, कसमार प्रभारी डॉ. नवाब, पेटरवार प्रभारी डॉ. अलबेल करकेट्‌टा, गोमिया की हलन बारला के अलावा डीएएम, डीपीएम, डीडीएम, डीपीसी, एपिडीमोलोजिस्ट, बीपीएम, बीएएम सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी भी उपस्थित रहे।

– Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.