लोकसभा में उठी श्रावणी मेले को राष्ट्रीय मेला का दर्जा देने की मांग, चंद्रप्रकाश चौधरी ने उठाया मामला

0
358
photo courtesy : google images
संवाददाता
बोकारो। गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी ने लोकसभा में अपने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर केंद्र सरकार का ध्यान झारखंड की धार्मिक व सांस्कृतिक नगरी देवघर में चल रहे श्रावणी मेला की ओर आकृष्ट कराया। उन्होंने श्रावणी मेले को राष्ट्रीय मेला का दर्जा देने का मामला सदन में उठाया और कहा कि ऐसा होने पर जहां इसकी पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होगी, वही दुनिया भर के पर्यटकों का आगमन हो सकेगा। उन्होंने कहा कि श्रावणी मेला को राष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए ही राष्ट्रीय मेला घोषित किया जाना आवश्यक है। श्रावणी मेला में देशभर से लोग आ रहे हैं और इसकी प्रसिद्धि दिनों दिन बढ़ती जा रही है। श्रावणी मेला को राष्ट्रीय मेला का दर्जा मिले, यह झारखंड की प्रतिष्ठा से जुड़ा विषय बन गया है।
सांसद ने उक्त मांग को लेकर सभी से सकारात्मक सहयोग की अपेक्षा व्यक्त करते हुए कहा कि देवघर स्थित बैद्यनाथ मंदिर को भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इसकी ख्याति बैद्यनाथ धाम के साथ-साथ बाबा धाम के रूप में भी है। यहां आने भक्त पवित्र गंगाजल लेकर देवघर में आकर भगवान शिव को जलाभिषेक करते हैं। इसके बाद बासुकीनाथ धाम जाकर जलाभिषेक करते हैं। सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि देवघर में एक माह चलने वाले श्रावणी मेला की तैयारी महीनों पूर्व शुरू की जाती है। आधारभूत संरचना के साथ-साथ विशेष कार्य कराए जाते हैं,  ताकि श्रावणी मेला में आने वाले श्रद्धालु भक्तों व पर्यटकों को तनिक भी कष्ट नहीं हो सके। श्रावणी मेला की प्रसिद्धि को देखते हुए इस मेला को राष्ट्रीय मेला घोषित किया जाना अत्यंत ही आवश्यक है।
– Varnan Live Report.

Leave a Reply