लोगों ने बनाया उम्मीदवार, धर्मवीर ने भरी चुनावी हुंकार

0
335

बोकारो। राष्ट्र भक्त समाज बोकारो तथा विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों, चास बोकारो के सैकड़ों युवाओं, प्रबुद्धजनों की एक आवश्यक बैठक सेक्टर- 4 स्थित मानव सेवा आश्रम महामिलन सभागार में हुई। बैठक का संचालन समाज के महामंत्री जसबीर सिंह ने किया और समस्त विषयों को रखा। इस अवसर पर समाज ने एवं उपस्थित सभी लोगों ने सर्वसम्मति से घोषणा किया कि बोकारो विधानसभा क्षेत्र से धर्मवीर सिंह को सबसे बेहतरीन उम्मीदवार बताते हुए अपना प्रत्याशी घोषित किया। वक्ताओं ने कहा कि 25 वर्षों के राजनीतिक, सामाजिक जीवन में उन्होंने चास बोकारो शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के विकास तथा जनसमस्याओं के लिए सदैव आवाज को बुलंद किया है और बेहद संघर्षशील नेता हैं। सभी जाति, धर्म, वर्ग, सम्प्रदाय मे इनकी विशिष्ट पहचान है और सबको साथ लेकर चलते हैं। जनता के हित मे एवं राष्ट्रहित मे सदैव धरना प्रदर्शन आंदोलन, आम सभा से अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है।

लोगों ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी राज्य एवं केन्द्रीय संगठन चास बोकारो के मतदाताओं, जनता के बीच सर्वे करा ले तो पता चल जाऐगा कि उनके वर्तमान सभी नेता, कार्यकर्ताओ मे धर्मवीर सिंह की पहचान विशिष्ट एवं सम्मानीय है। अपने उद्गार में धर्मवीर ने लोगों के विश्वास तथा अपना उम्मीदवार घोषित किये जाने पर आभार जताया। धन्यवाद ज्ञापन सचिव लक्ष्मण सिंह ने किया। मौके पर ठाकुर सुरेश सिंह, मुन्ना सिंह, वीणा सिंह, जसबीर सिंह, कुंदन सिंह, ओमप्रकाश रजक, गजेंद्र सिंह, जयप्रकाश सिंह, डा. आमोद मिश्रा, गोपाल सिंह, सुजीत कुमार सिंह, सूर्या भूषण, रमेश सिंह, सुनील माहथा, शमशाद आलम, बीके पासवान, लखन महतो, अरविंद सिंह, मधुकर सिंह, अरुण कुमार, चंदन सिंह, बीएन चौधरी, रूद्र देव सिंह, राजदीप कुमार, राजेन्द्र पटेल, गिन्नी बाबा आदि मौजूद थे।

– Varnan Live Report.

Previous article‘बनना है आत्मविश्वासी तो डालें पढ़ने की आदत’ | चिन्मय विद्यालय में मना Reading Month
Next article65+ सीटें जीतने की जुगत में भिड़ी भाजपा, बोकारो में बनाई रणनीति
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply