सिरफिरे तलाकशुदा पति ने युवती को ब्लेड से किया घायल, हुआ गिरफ्तार

0
804
घायल युवती को अस्पताल ले जाते परिजन।
Vishal Agrawal
गोमिया (बोकारो)। जिले के गोमिया थाना क्षेत्र अंतर्गत पुराना सिनेमा हॉल के पास स्थित सुरभि होटल में काम करने वाली शबाना खातून नामक एक युवती को उसके तलाकशुदा पति सरफराज (जमुआ, गिरिडीह निवासी) ने ब्लेड के हमले से घायल कर दिया। घटना बुधवार को उस वक्त घटी जब शबाना होटल में ग्राहकों को खाना परोस रही थी। उसी वक्त पीछे पकड़कर सरफराज ने उसकी गर्दन पर ब्लेड के वार कर दिया। वार इतना खतरनाक था कि शबाना की गर्दन से खून की अविरल धार बहने लगी। उसका उजला सलवार-कमीज खून से लाल हो गया। होटल का फर्श भी लाल हो गया। आनन-फानन में स्थानीय स्तर पर प्राथमिक उपचार के बाद उसे बोकारो जेनरल अस्पताल भेजा गया, जहां उसका इलाज चल रहा है।
 
हमला कराने का आरोप चाचा पर
भुक्तभोगी युवती शबाना की बहन अफसाना ने बीजीएच में मीडियाकर्मियों को बताया कि शबाना, उसे तथा उसके पूरे परिवार को उसके खुद के चाचा ही परेशान करते और करवाते हैं। घर चलाने का खर्चा-पानी नहीं दिये जाने को लेकर पूर्व के विवाद में चाचा पर उनलोगों ने मुकदमा किया था। उसके बाद वे दोनों बहनें जीविकोपार्जन के लिये होटल में काम करने लगीं। उसी का बदला लेने के लिये चाचा शबाना के तलाकशुदा पति को अपने साथ मिलाकर अक्सर उसके परिवार को तंग कराता रहता है। होटल में हमले से पूर्व उसके घर में भी सरफराज ने तोड़-फोड़ की थी। शबाना की बहन ने बताया कि सरफराज से उसकी बहन का रिश्ता दो-ढ़ाई साल पहले ही टूट गया। वह अक्सर शराब पीकर आता था और उसकी बहन के साथ मारपीट किया करता था।
 
ghayal ladki
हमले से लहुलूहान युवती.
पुलिस कर रही जांच
मामले में पूछे जाने पर गोमिया के थाना प्रभारी अनिल उरांव ने बताया कि पुलिस को सुरभि होटल के मालिक लाला प्रसाद जायसवाल द्वारा घटना की सूचना मिली। संभवतः होटल मालिक व अन्य कर्मियों ने उसे घटना के बाद पकड़कर बैठा रखा था, जिसे पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गिरफ्तार कर लिया है। थानेदार ने कहा कि पुलिस मामले में अनुसंधान कर रही है। जांच के बाद ही स्पष्ट कुछ कहा जा सकेगा।
– Varnan Live Report.
Previous article65+ सीटें जीतने की जुगत में भिड़ी भाजपा, बोकारो में बनाई रणनीति
Next articleमालवाहक गाड़ी और बाइक में सीधी टक्कर, मुखियापुत्र सहित तीन युवक घायल, दो गंभीर
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply