निहत्थे बूढ़े पहरेदार के भरोसे था पेट्रोल पंप, अपराधियों ने बाथरूम में बंद कर यूं लूटे एक लाख

0
541
घटनास्थल पर छानबीन करती पुलिस।

संजय भारद्वाज

चंदनकियारी (बोकारो)। बोकारो जिले के चंदनकियारी में बरमसिया ओपी क्षेत्र अंतर्गत भाराजोड़ी स्थित हरिओम फ्यूल नामक एक पेट्रोल पंप से शनिवार-रविवार की मध्यरात्रि अज्ञात नकाबपोश अपराधकर्मियों ने हथियार के बल पर एक लाख रुपये से अधिक की राशि लूट ली। लुटेरों ने पम्प के पहरेदार को बंधक बनाकर वारदात को अंजाम दिया। घटना के संबंध में सेक्टर-12 स्थित आवास संख्या 3186 निवासी अनिल प्रसाद ने बरमसिया थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार अनिल प्रसाद को रविवार सुबह छह बजे पंप के कर्मचारी ललटू गोप द्वारा लूट की घटना जानकारी दी गई। लगभग साढ़े सात बजे वह भाराजोड़ी पेट्रोल पंप पहुंचा, जहां पंप पर पहरेदार के कार्यरत 65 वर्षीय किष्टोपद मांझी द्वारा पूछताछ में उसे बंधक बनाकर रुपए की लूटपाट किए जाने का खुलासा हुआ। उसने बताया कि रात के लगभग 12.00 बजे पंप पर दो अज्ञातकर्मी मुंह ढंके हुए पहुंचे। उनमें से एक ने कुर्ता और लुंगी पहन रखी थी, जबकि दूसरे ने फुलपैंट और गंजी पहनी थी। वे लोग सीधे उसके पास पहुंचे और उसे हथियार तथा चाकू का भय दिखाकर शौचालय के अंदर बंद कर दिया। फिर  दूसरे शौचालय के भीतर के दरवाजे का लॉक काटकर वे लोग पंप के ऑफिस में घुस गए और लूटपाट कर ली। पंप मालिक ने कहा कि कार्यालय पहुंचने पर उसने दूसरे शौचालय के भीतर का लॉक कटा हुआ पाया तथा कार्यालय में दराज में रखे गए एक लाख तीन हजार 179 रुपए गायब पाए। पहरेदार द्वारा यह भी बताया गया कि प्रातः 6.00 बजे ललटू गोप ने ही उसे शौचालय के अंदर से बाहर निकाला।
 
लापरवाही का नतीजा रही लूटपाट
बता दें कि 65 वर्षीय एक वृद्ध सुरक्षा गार्ड किष्टोपद मांझी के जिम्मे कोडिया भाराजोरी के बीच सुनसान इलाके में उक्त पेट्रोल पंप की सुरक्षा व्यवस्था थी। पिछली बार इसी पम्प में एक कर्मी से हथियार के बल पर दिन-दहाड़े 30 हजार रुपये की लूट हुई थी। इसके बाद लॉकर में नकदी रखने की सख्त हिदायत पुलिस द्वारा दी गयी थ। बावजूद इसके एक लाख रुपये से ज्यादा की बड़ी राशि को दराज में रखने की चूक की गई। जबकि लॉकर में रखी गयी राशि को सुरक्षित पाया गया। एक पम्पकर्मी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पम्प में बिक्री के एक लाख, 93 हजार में से 90 हजार रुपये लॉकर में रखे गये थे। जबकि शेष लूटी गई राशि को दराज में ही रखने की गलती कर दी गयी। दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक पंप मालिक ने भी शनिवार शाम 7.30 बजे पंप से लौटते समय उसने हर दिन की तरह उक्त रुपए को भी लॉकर में डालने के लिए कहा था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। घटना के बाद चास के अनुमंडलीय पुलिस पदाधिकारी बहामन टूटी ने सदल-बल घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन की, लेकिन खबर भेजे जाने तक कोई भी ठोस सफलता पुलिस के हाथ नहीं लग सकी थी।
– Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.