जिला समाहरणालय से निकला जागरूकता रथ

संवाददाता
बोकारो :
‘बढ़ते शिशु की नियमित निगरानी, दूर हो स्वास्थ्य की हर परेशानी’। इसी नारे के साथ मंगलवार को जिला प्रशासन बोकारो की ओर से पोषण जागरूकता रथ जिला समाहरणालय से रवाना किया गया। उपायुक्त मुकेश कुमार ने हरी झंडी दिखाकर इस रथ को रवाना किया। मौके पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान डीसी मुकेश ने कहा कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा सितंबर महीने में पोषण माह मनाया जा रहा है। इसके तहत अलग-अलग पंचायतों में अलग-अलग आंगनबाड़ी केंद्रों में अलग-अलग गतिविधियां की जा रही हैं। पोषण को लेकर देश में बहुत सी समस्याएं हैं और झारखंड भी उन राज्यों में से है, जहां इसे लेकर काफी दिक्कतें हैं। कुपोषण से कैसे निजात मिल सके, इसे लेकर सरकार लगातार काम कर रही है। आंगनबाड़ी केंद्रों का सशक्तिकरण करते हुए कैसे हर बच्चे तक पोषाहार एवं अन्य चीजें उपलब्ध कराई जा सके, इसे लेकर कोशिशें की जा रही हैं। किस उम्र में किस चीज का सेवन करना चाहिए कौन सी खाद्य सामग्री खानी चाहिए, जिससे उनका स्वास्थ्य बेहतर हो। इसे लेकर सरकार द्वारा जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। जिला प्रशासन की तरफ से भी मुहिम हरेक इलाके में चल रही है। सभी आंगनबाड़ी केंद्रों को इससे जोड़े जाने की योजना है। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी इसमें मदद कर रही है, ताकि जन-जागरूकता का माहौल बन सके। डीसी ने जिले के सभी जनप्रतिनिधियों से भी इसमें खुलकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का आह्वान किया। एक सवाल के जवाब में उपायुक्त ने कहा कि कई बार आर्थिक दिक्कतों से भी कुपोषण की समस्या आती है, इसे लेकर भी सरकार की तरफ से योजना चल रही है। धातृ माताओं को भी इसके तहत लक्षित किया जाता है और शून्य से लेकर 6 वर्ष तक के बच्चों लाभ पहुंचाए जाने के साथ-साथ अन्य कार्यों पर भी सरकार योजनाएं क्रियान्वित कर रही है। इस अवसर पर पोषण जागरुकता के कार्य में लगी महिलाकर्मियों ने नारा लिखित तख्तियां लेकर जन-जागरुकता का संदेश दिया। मौके पर डीसी ने सबों को कुपोषण दूर करने के संबंध में शपथ भी दिलायी।

  • Varnan Live Report.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.