पारस एचईसी अस्पताल की उच्चस्तरीय चिकित्सा सेवा अब बोकारो में भी, ओपीडी सेवा शुरू

0
615

अच्छी स्वास्थ्य सुविधा से ही स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण संभव : डॉ. सुहास

बोकारो। पारस एचईसी अस्पताल, रांची की ओर से बोकारो के लोगों के लिए उच्चस्तरीय चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने हेतु बोकारो में ओपीडी सेवा की शुरुआत की गई है। नया मोड़ स्थित वेलमार्क अस्पताल में न्यूरोसर्जरी, किडनी रोग, हड्डी रोग, जनरल सर्जरी एवं मिनिमल इनवेसिव सर्जरी, इंटरनल मेडिसिन मूत्र रोग के वरिष्ठ विशेषज्ञों द्वारा परामर्श की सुविधा उपलब्ध की जा रही है। महीने के हर पहले और तीसरे शनिवार को बोकारोवासी इस विशेष सुविधा का लाभ उठा सकेंगे।नस – ब्रेन सम्बन्धी रोग, किडनी की बीमारी, पित्ताशय में पथरी, हर्निया, बवासीर, प्रोस्टेट सम्बन्धी रोग आदि के इलाज के लिए लोगों को अब कहीं दूर जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। आउटरीच ओपीडी से संपर्क करने तथा नामांकन के लिए हेल्पलाइन नंबर- 90318 22852 /929799 1020 पर संपर्क कर जानकारी ले सकते हैं। बुधवार को यहां एक प्रेसवार्ता में पारस हेल्थ्केयर ग्रुप के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. सुहास आराध्ये ने कहा कि पारस एचईसी अस्पताल में न्यूरोसर्जरी, किडनी रोग, हड्डी रोग, जनरल सर्जरी एवं मिनिमल इनवेसिव सर्जरी, इंटरनल मेडिसिन मूत्र रोग संबंधी हर बीमारी का सफल इलाज उपलब्ध है।उन्होंने कहा – पारस अस्पताल का हमेशा से ही प्रयास रहा है कि किस तरह अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सुविधा हरेक नागरिक तक पहुंचाई जा सके और एक स्वस्थ्य भारत का निर्माण हो। अच्छी स्वास्थ्य सुविधा हर नागरिक का अधिकार है और पारस इसी उद्देश्य से इस तरह के सेवाएं और समय समय पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करता रहता है, जिससे हर एक नागरिक एक स्वस्थ्य जीवन व्यतीत कर सके।
मेडिकल डायरेक्टर एवं वाइस चेयरमैन (न्यूरोसाइंस विभाग, पारस एचईसी हॉस्पिटल) डॉ. संजय कुमार ने इस मौके पर कहा कि पारस एचईसी अस्पताल, रांची एक विश्वसनीय चिकत्सकों की बड़ी टीम के साथ उच्च एवं नयी तकनीक से लैस एक ऐसा हेल्थकेयर सर्विस देना चाहता है, जिससे कि लोगों का अपने डॉक्टरों एवं अपने राज्य पर भरोसा बढ़े। मौके पर फैसिलिटी डायरेक्टर (पारस एचईसी अस्पताल, रांची) डॉ. नितेश कुमार ने कहा – “हमारा हमेशा से यही प्रयास रहा है कि झारखंडवासियों को उच्चस्तरीय चिकित्सा उनके राज्य में ही उपलब्ध हो, ताकि उन्हें कहीं भी न जाना पड़े और इसी मकसद से हमने बोकारो में ऐसे मल्टी स्पेशलिटी ओपीडी की शुरुआत की है।
मौके पर वेलमार्क अस्पताल के चेयरमैन डॉ. सतीश कुमार, हृदय रोग विशेषज्ञ एवं प्रबंधक अरविन्द कुमार सिंह, पारस एचईसी अस्पताल रांची की ओर से डॉ. मेजर रमेश दास (जनरल सर्जन), डॉ. नरेंद्र कुमार भोंसले (कार्डियक सर्जन), डॉ. आशुतोष कुमार ठाकुर (डाईबेटोलॉजिस्ट), डॉ. सौमिक चटर्जी (यूरोलोजिस्ट), डॉ. कुमार विशाल (ऑर्थो सर्जन) उपस्थित थे।

– Varnan Live Report.

Previous article‘दलदल’ में हेमंत सरकार… 5 IAS, 4 IPS संदेह के घेरे में, फोन कॉल डिटेल डीआरआई और इंटेलीजेंस के पास
Next articlePM had a clear message about the national Heroes
मिथिला वर्णन (Mithila Varnan) : स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता'! DAVP मान्यता-प्राप्त झारखंड-बिहार का अतिलोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक अब न्यूज-पोर्टल के अवतार में भी नियमित अपडेट रहने के लिये जुड़े रहें हमारे साथ- facebook.com/mithilavarnan twitter.com/mithila_varnan ---------------------------------------------------- 'स्वच्छ पत्रकारिता, स्वस्थ पत्रकारिता', यही है हमारा लक्ष्य। इसी उद्देश्य को लेकर वर्ष 1985 में मिथिलांचल के गर्भ-गृह जगतजननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी की कोख से निकला था आपका यह लोकप्रिय हिन्दी साप्ताहिक 'मिथिला वर्णन'। उन दिनों अखण्ड बिहार में इस अख़बार ने साप्ताहिक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनायी। कालान्तर में बिहार का विभाजन हुआ। रत्नगर्भा धरती झारखण्ड को अलग पहचान मिली। पर 'मिथिला वर्णन' न सिर्फ मिथिला और बिहार का, बल्कि झारखण्ड का भी प्रतिनिधित्व करता रहा। समय बदला, परिस्थितियां बदलीं। अन्तर सिर्फ यह हुआ कि हमारा मुख्यालय बदल गया। लेकिन एशिया महादेश में सबसे बड़े इस्पात कारखाने को अपनी गोद में समेटे झारखण्ड की धरती बोकारो इस्पात नगर से प्रकाशित यह साप्ताहिक शहर और गाँव के लोगों की आवाज बनकर आज भी 'स्वच्छ और स्वस्थ पत्रकारिता' के क्षेत्र में निरन्तर गतिशील है। संचार क्रांति के इस युग में आज यह अख़बार 'फेसबुक', 'ट्वीटर' और उसके बाद 'वेबसाइट' पर भी उपलब्ध है। हमें उम्मीद है कि अपने सुधी पाठकों और शुभेच्छुओं के सहयोग से यह अखबार आगे और भी प्रगतिशील होता रहेगा। एकबार हम अपने सहयोगियों के प्रति पुनः आभार प्रकट करते हैं, जिन्होंने हमें इस मुकाम तक पहुँचाने में अपना विशेष योगदान दिया है।

Leave a Reply